उत्साह से मना भाई-दूज का पर्व,बहनों ने टीका लगाकर की भाईयों की लंबी उम्र की कामना

कटनी। भाई-बहन के प्रेम का पर्व भाई दूज पूरे उत्साह के साथ मनाया गया। सुबह से ही तैयार होकर बहनों ने भाई दूज की पूजा अर्चना की और उसके बाद अपने भाईयों के माथे में टीका लगाकर उनकी आरती उतारी। बहनों द्वारा भाईयों को टीका लगाकर उनकी लंबी उम्र की कामना की गई तो वहीं भाईयों ने भी बहनों के चरण स्पर्श कर आशीर्वाद लिया और यथा सामथ्र्य भेंट अर्थात उपहार समर्पित किए। 

उल्लास से मनाया गया त्यौहार

दिवाली के बाद परीवा के दूसरे दिन अर्थात द्वितीया तिथि को हर साल भाई दूज मनाया जाता है। भाई-बहन के प्यार का यह त्यौहार पूरे देश में धूमधाम से मनाया जाता है। शास्त्रों के अनुसार सूर्य की संज्ञा से दो संतानें थीं एक पुत्र यमराज और दूसरी पुत्री यमुना। संज्ञा सूर्य का तेज सहन न कर पाने के कारण अपनी छायामूर्ति का निर्माण कर उसे ही अपने पुत्र-पुत्री को सौंपकर वहां से चली गई। 

भाई बहन का पर्व है यम द्वितीया

छाया को यम और यमुना से किसी प्रकार का लगाव न था, लेकिन यम और यमुना में बहुत प्रेम था। यमराज अपनी बहन यमुना से बहुत प्यार करते थे, लेकिन ज्यादा काम होने के कारण अपनी बहन से मिलने नहीं जा पाते। एक दिन यम अपनी बहन की नाराजगी को दूर करने के लिए मिलने चले गए। यमुना अपने भाई को देख खुश हो गईं और भाई के लिए खाना बनाया और आदर सत्कार किया। बहन का प्यार देखकर यमराज इतने खुश हुए कि उन्होंने यमुना को खूब सारे भेंट दिए। 

यम ने यमुना को दिया था वरदान

यम जब बहन से मिलने के बाद विदा लेने लगे तो बहन यमुना से कोई भी अपनी इच्छा का वरदान मांगने के लिए कहा। यमुना ने उनके इस आग्रह को सुन कहा कि अगर आप मुझे वर देना ही चाहते हैं तो यही वर दीजिए कि आज के दिन हर साल आप मेरे यहां आएं और मेरा आतिथ्य स्वीकार करेंगे। कहा जाता है इसी के बाद हर साल भाईदूज का त्यौहार मनाया जाता है और भाईयों के माथे में टीका लगाकर बहनें उनकी लंबी उम्र की कामना करती हैं।

Share on Google Plus

About Abhishek Mishra

www.katninews.com is first Hindi News Portal of Katni District. You can get latest Hindi News updates.

0 टिप्पणियाँ:

एक टिप्पणी भेजें