स्वाईप मशीन लगवाने का अभियान करें प्रारंभ, जो न माने, तो लाईसेंस निरस्त करने की करें कार्यवाही - कलेक्टर विशेष गढ़पाले

कटनी (14 नवंबर)- 500 और 1000 रुपये के नोट के कारण जिले वासियों को तकलीफ हो रही है। इस पर दुकानदारों, नर्सिंग होम, पैथलॉजी लैब, निजि डॉक्टर्स, मैरिज गार्डन और पेट्रोल पंप सहित अन्य प्रतिष्ठानों में यह नोट न लेने से समस्यायें बढ़ी हैं। इसके निराकरण के लिये कलेक्टर विशेष गढ़पाले द्वारा नगर निगम आयुक्त, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी, असिसटेंट कमिश्नर सीटीडी और जिला खाद्य आपूर्ति अधिकारी को अभियान चलाकर अपने-अपने संबंधित प्रतिष्ठानों में स्वाइप मशीन लगवाने के निर्देश दिये गये हैं। प्रतिष्ठान संचालकों द्वारा मना करने पर लाईसेंस निरस्त करने की कार्यवाही करने के आदेश भी कलेक्टर श्री गढ़पाले ने दिये हैं। उन्होने सभी संबंधित अधिकारियों को मंगलवार से ही इस अभियान को प्राथमिकता के साथ सक्रियता से चलाने की बात कही।
     ग्रामीण क्षेत्रों में संबंधित एसडीएम और तहसीलदारों को भी इसी तर्ज पर अभियान चलाकर स्वाइप मशीन लगवाने के निर्देश कलेक्टर विशेष गढ़पाले ने दिये हैं। 
उन्होने मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी को नर्सिंग होम एसोशिएशन की मीटिंग तत्काल लेने के निर्देश दिये हैं। श्री गढ़पाले ने कहा कि निजि चिकित्सालयों और नर्सिंग होम्स में 500 व 1000 के नोट बंद होने की स्थिति में रोगियों को समुचित उपचार न मिले, ये स्थिति ठीक नहीं है। इस लिये अभियान चलाकर इन चिकित्सीय संस्थाओं में भी स्वाइप मशीन लगवायें। क्योंकि यह चिकित्सीय व्यवसाय की संहिता के विरुद्व है। ये उल्लेखनीय है कि मध्य प्रदेश उपचर्या गृह तथा रुजोपचार संबंधी स्थापनायें नियम 1997 की कंडिका 17.3 में ये प्रावधान है कि कोई नर्सिंग होम निजि चिकित्सालय या क्लीनिक रोगी को आकस्मिक समुचित उपचार उपलब्ध कराने से मना नहीं कर सकता।
Share on Google Plus

About Abhishek Mishra

www.katninews.com is first Hindi News Portal of Katni District. You can get latest Hindi News updates.

0 टिप्पणियाँ:

एक टिप्पणी भेजें