रुपए नहीं दे रहे बैंक, जमा करने में हो रही फजीहत,सुबह से लग जाती है भीड़, देर से खुलता है ताला


कटनी।(11 अक्टूबर ) हजार व पांच से नोटों के चलन बंद होने से जो हड़कंप मचा हुआ है उसका स्पष्ट प्रमाण बैंकों में नोट जमा करने या निकालने के लिए जमा होने वाली भीड़ को देखकर सहज ही मिल जाता है। अपनी-अपनी जमा पूंजी जमा करने के लिए लोग सुबह से ही बैंक के दरवाजे में खड़े हो जाते हैं और रुपए जमा करने या बदलने के बाद ही राहत की सांस ले पा रहे हैं। 

सुबह से जमा हो जाती है भीड़, देर से खुलते हैं बैंक

कम रकम वाले लोग तो कम परेशान देखे गए लेकिन बड़े व्यापारियों को रकम जमा करने में भारी समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है। वहीं दूसरी ओर बैंक प्रबंधक भी लोगों की परेशानियों में इजाफा करने में कोई कसर नहीं छोड़ रहे हैं। आलम यह है कि सुबह जल्दी बैंक खोलने के निर्देशों के बावजूद साढ़े दस बजे के बाद ही बैंक का ताला खुलता है जिससे भीड़ अधिक बढ़ जाती है। 

नहीं शुरू की गई आहरण सुविधा

विजयराघवगढ़ भारतीय स्टेट बैंक की शाखा में रुपए लेेकर जाने वाले लोगों को राहत नहीं मिल पा रही जबकि बैंक प्रबंधन पूरी तरह से लापरवाही बरत रहा हो। गाहे-बगाहे रुपए जमा कर भी लिए जाते हैं लेकिन दो दिन गुजरने के बाद भी बैंक द्वारा रुपए नहीं बदले जा रहे हैं। रुपयों के आहरण न होने से लोगों को भारी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है लेकिन बैंक प्रबंधन इस ओर से नजर अंदाजी ही कर रहा है। 

पोस्टऑफिस में नहीं लिए जा रहे नोट

ऐसा ही कुछ हाल बैंक ऑफ बड़ौदा का भी है जहां लेन-देन की प्रक्रिया देर से प्रारंभ की जा रही है और यह कहकर लोगों को चलता कर दिया गया कि रुपए न होने के कारण नोट नहीं बदले जा सकते। विजयराघवगढ़ स्थित पोस्टआफिस में रुपए जमा करने वाले लोगों को भी निराश होकर लौटना पड़ रहा है। बताया जा रहा है कि पोस्टमास्टर द्वारा यह कहकर नोट लेने से मना किया जा रहा है कि पोस्टऑफिस में नोटों की जांच करने वाली मशीन नहीं हैं। 

निर्देशों पर भारी बैंकों की मनमानी

यहां गौर करने वाली बात है कि लोगों को परेशानियां न हों इस बात को ध्यान में रखते हुए सरकार द्वारा आवश्यक दिशा निर्देश तो जारी कर दिए गए हैं लेकिन बैंकों और पोस्टऑफिस में बैठे जिम्मेदार अमले की हिटलरशाही सरकारी निर्देशों पर भारी पड़ रही है। शहर के अलावा विजयराघवगढ़, बरही, कैमोर आदि क्षेत्रों में स्थित बैंकों में नोट बदलने व जमा करने वाले उपभोक्ताओं की लंबी कतारें पूरा दिन जमा रहीं और लोग परेशान हलाकान होते नजर आए। 

एटीएम भी रहे बंद, परेशान रहे लोग

यही नहीं कई स्थानों में एटीएम भी पूरा दिन बंद रहे जिसके कारण भी लोगों को समस्याओं से दो चार होना पड़ा। दो दिन एटीएम बंद रहने के बाद तीसरे दिन से एटीएम मशीनों से लेन देन सुविधा प्रारंभ होने की बात निर्देशों में कही गई थी लेकिन तीसरे दिन भी एटीएम बंद रहे जिसके कारण लोग रुपए नहीं आहरित कर सके और दिनचर्या प्रभावित रही। ऐसा बताया गया है कि बैंक में पर्याप्त रुपए नहीं हैं जो कि एटीएम मशीन में डाले जा सकें, इसके अतिक्ति मशीनों में नया वर्जन भी अपडेट नहीं हो पाया है जिसके कारण एटीएम से लेन-देन की सुविधा प्रारंभ नहीं की जा सकी। 

Share on Google Plus

About Abhishek Mishra

www.katninews.com is first Hindi News Portal of Katni District. You can get latest Hindi News updates.

0 टिप्पणियाँ:

एक टिप्पणी भेजें