गंदगी और कचरे से आज भी मुक्त नहीं हुआ शहर ,खोखले साबित हो रहे स्वच्छता के दावे, वार्डों की बदहाली खोल रही पोल

कटनी। शहर में व्याप्त गंदगी और कचरों के ढेर, सरकार द्वारा चलाया जाने वाला स्वच्छता अभियान पर पलीता तो लगा रहे हैं। जिले में स्वच्छता अभियान के नाम पर नगर निगम प्रशासन द्वारा किए जा रहे दावे पूरी तरह खोखले साबित हो रहे हैं जबकि कई वार्डों में व्याप्त बदहाली अभियान की पोल खोल रही है। बाबू जगजीवन वार्ड की जैन कालोनी में गंदगी के ेकारण लोगों को परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है लेकिन नगर निगम प्रशासन की नजरें इस ओर इनायतें नहीं हो पा रही हैं। 

गंदा पानी मारता है सड़ांध, सांस लेना भी दूभर

उक्त क्षेत्र के रहवासियों की मानें तो घरों से निकलने वाला गंदा पानी जमा होकर सड़ांध मार रहा है जिससे बीमारियों का खतरा बना रहता है। खाली पड़े प्लाटों में क्षेत्र में बनी नालियों का पानी एकत्रित हो रहा है। गंदगी के कारण लोगों का सांस लेना दूभर है तो मच्छर भी पनपते हैं जिससे लोग मलेरिया आदि बीमारियों की चपेट में आ रहे हैं। जैन कालोनी में व्याप्त बहदहाली की ओर नगर निगम प्रशासन का ध्यान आकर्षित क्यों नहीं हो रहा है यह समझ से परे है।

संक्रमण का बना रहता है खतरा

रहवासियों ने बताया कि उन्होंने इस संबंध में स्थानीय जनप्रतिनिधि व निगम अधिकारियों से भी शिकायत की लेकिन वर्षों से इस समस्या का निराकरण नहीं हो सका है। जानकारी के अनुसार जैन कालोनी में क्षेत्र के आसपास बनी नालियों का पानी पहुंचता है तो वहीं खाली पड़े प्लाट इस गंदे पानी के कारण डबरों में तब्दील हो गए हैं। सबसे अधिक परेशानी उन लोगों को है जिनके मकान ऐसे प्लाटों के पास बने हुए है। 

उदासीनता बरत रहे जिम्मेदार

आलम यह है कि महीनों से जमा हो रहे पानी के कारण दुर्गंध उठ रही है वहीं क्षेत्र में मच्छरों की संख्या भी लगातार बढ़ती जा रही है। पूर्व में भी इस क्षेत्र में डेंगूू का कहर फैल चुका है, जिसके कारण आधा दर्जन लोग इसकी चपेट में आ चुके हैं लेकिन विडंबना है कि प्रशासनिक अमला अपनी कुंभकर्णीय निद्रा से नहीं जाग रहा है। वार्ड की गंभीर समस्या से लोग ग्रसित हैं जबकि जिम्मेदार पूरी तरह उदासीनता बरत रहे हैं।

नजरअंदाजी बनी परेशानी का सबब

क्षेत्र में अन्य नालियों से आकर जमा होने वाले पानी की निकासी के लिए पुख्ता इंतजाम नहीं है। गंदी पानी की निकासी के लिए नाले का निर्माण नहीं कराया गया और जिम्मेदारों की यही नजर अंदाजी क्षेत्रवासियों ने लिए समस्या का सबब बनती जा रही है। प्लाटों में जमा रहने वाले गंदे पानी होने से उठने वाली दुर्गंध के कारण घरों के बाहर बैठना भी मुश्किल हो जाता है।

प्रस्ताव पारित, अधर में स्वीकृति

पार्षद मनोज गुप्ता का कहना है कि यह बात सही है कि जैन कालोनी के खाली प्लाटों में आसपास के क्षेत्रों का गंदा पानी जमा होने से लोगों की परेशानियों को ध्यान में रखते हुए बड़े नाले के निर्माण के लिए प्रस्ताव नगर निगम में जमा किया गया था जिसमें बजट प्रावधान हो चुका है लेकिन इस कार्य के लिए आयुक्त की स्वीकृति नहीं मिल पाई है, स्वीकृति मिलते ही जल्द ही कार्य प्रारंभ कराया जाएगा।

Share on Google Plus

About Abhishek Mishra

www.katninews.com is first Hindi News Portal of Katni District. You can get latest Hindi News updates.

0 टिप्पणियाँ:

एक टिप्पणी भेजें