नहीं थम रहा जिला अस्पताल में भर्राशाही का सिलसिला,घंटों तड़पती रही प्रसूतिका, लापरवाही से गई नवजात की जान

कटनी।(21 नवम्बर ) भर्राशाही व मनमानी के लिए मशहूर हो चुके जिला अस्पताल में अनियमितताओं का सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा है। आए दिन लापरवाही के नए-नए प्रमाण सामने आने के बाद जिला प्रशासन सख्ती नहीं बरत रहा है जिसके कारण अस्पताल में पदस्थ जिम्मेदारों की हिटलरशाही सिर चढ़कर बोल रही है तो वहीं मरीजों को मिलने वाली स्वास्थ्य सुविधाएं भी ढकोसला साबित हो रही हैं। जिला चिकित्सालय में व्याप्त अव्यवस्थाओं के ताजा उदाहरण पिछले 24 घंटों के दौरान डिलेवरी वार्ड में देखने को मिले, जहां प्रसूतका व उसके परिजनों को उपचार के लिए अत्यधिक परेशान होना पड़ा। अस्पताल सूत्रों के मुताबिक बड़वारा थाना अंतर्गत ग्राम भुड़सा से डिलेवरी के लिए आई 22 वर्षीय फूलबाई पति लालाकोल बेड की बजाय फर्स पर गद्दा डालकर घंटों उपचार के लिए भटकाया गया। परिजनों को खून की कमी बताकर आपरेशन करने की बात कहीं गई और उसके बाद आपरेशन थियेटर के बाहर फूलबाई घंटों पड़ी रही। बताया गया कि फूलबाई के पेट में पल रहे बच्चे का हाथ बाहर निकलने व दर्द अधिक बढऩे पर उसका आपरेशन शुरू किया गया। वहीं बहोरीबंद थाना अंतर्गत ग्राम कूड़ा धनिया से डिलेवरी के लिए पहुंची 25 वर्षीय मनीषा पति राकेश चौधरी की डिलेवरी के बाद उसके बच्चे की हालत गंभीर बताकर बच्चे को गहन उपचार के लिए रिफर कर दिया गया जबकि परिजन बच्चे के साथ मां को भी रिफर करने की मांग करते रहे लेकिन चिकित्सकों ने नहीं सुनी। ऊधर बड़वारा थाना अंतर्गत ग्राम बनेहरा से डिलेवरी के आई 22 वर्षीय दुर्गा पति कृष्ण कुमार विश्वकर्मा की डिलेवरी के बाद उपचार में लापरवाही से नवजात की मौत हो गई। गौरतलब है कि लगातार अनियमितताओं के मामले उजागर होने के बाद भी जिला प्रशासन इस ओर झांकने की जहमत नहीं उठा पा रहा है जिसके कारण जिला अस्पताल में स्वास्थ्य सेवाएं पटरी पर आने का नाम नहीं ले रही हैं। जिला अस्पताल में पदस्थ सिविल सर्जन से लेकर चिकित्सक व चिकित्सा स्टाफ खुली मनमानी पर उतारू हैं जिसके कारण मरीजों को समुचित स्वास्थ्य सुविधाएं नहीं मिल पाती हैं और इसी कारण कई बार मरीज अपनी जान गवां बैठते हैं या फिर उपचार के लिए परेशान हो रहे हैं। जिला चिकित्सालय का आलम यह हो गया है कि यदि कोई भी व्यक्ति यहां पदस्थ चिकित्सक व चिकित्सा स्टाफ से उपचार करने का आग्रह करता है तो वह शासकीय कार्य की बाधा की श्रेणी में आ जाता है और उसके विरूद्ध मामला दर्ज करा दिया जाता है। 

Share on Google Plus

About Abhishek Mishra

www.katninews.com is first Hindi News Portal of Katni District. You can get latest Hindi News updates.

0 टिप्पणियाँ:

एक टिप्पणी भेजें