कारगर सिद्ध हुये 2 दिवसीय राजस्व शिविर, ग्रामीणों को त्वरित रुप से मिला लाभ, 2212 आवेदकों का स्पॉट पर ही हुआ अविवादित नामन्तरण बटवारा व फौती नामन्तरण

907 खातेदारों की सम्पत्ति खसरों में हुई इन्द्राज, वहीं 757 को निःशुल्क मिली भू-अधिकार पुस्तिका
849 के शिविरों में बनकर ही बंटे आय, मूल निवास एवं जाति प्रमाण पत्र
कटनी (29 जनवरी)- जिले में राजस्व से जुड़ी सेवाओं का लाभ ग्रामीणों को सरल, सहज, सुगम एवं सस्ते रुप में मिले, इस उद्वेश्य से 2 दिवसीय राजस्व शिविरों का आयोजन किया गया। कलेक्टर विशेष गढ़पाले के निर्देश पर जिले की सातों तहसीलों के अलग-अलग गावों में आयोजित किये गये राजस्व शिविरों के कारगर परिणाम भी प्राप्त हुये हैं। 27 और 28 जनवरी को आयोजित राजस्व शिविरों में जहां स्पॉट पर ही 2212 आवेदकों का अविवादित नामन्तरण, बटवारा और फौती नामान्तरण राजस्व के अमले द्वारा कराया गया। वहीं 907 खातेदारों की सम्पत्ति भी खसरे में इन्द्राज की गई। शिविरों में 757 ग्रामीण हितग्राहियों को निःशुल्क भू-अधिकार पुस्तिका का वितरण भी कराया गया।
             इसी तरह कटनी तहसील में खिरहनी, खरखरी, झालवारा, रीठी तहसील में नयाखेड़ा, पोंड़ी, ढीमरखेड़ा में बांध और परसेल, बड़वारा तहसील में सकरीगढ़, विजयराघवगढ़ तहसील में खजुरा, बरही तहसील में हर्रवाह, बहोरीबंद तहसील में रामपाटन, मटवारा और किवलहरा में आयोजित राजस्व शिविरों में 849 हितग्राहियों के आवेदन अनुसार आय, मूल निवास एवं जाति प्रमाण पत्र तैयार कर शिविर में ही वितरित किये गये। इन शिविरों में परिवर्तित भू-भाटक की 1 लाख 55 हजार 6664 रुपये की वसूली भी राजस्व विभाग द्वारा की गई। 738 प्रकरणों में सीएमएचओ एवं जन्म मृत्यु से प्राप्त फौती नामन्तरण पंजीकृत कर प्रकरणों का निराकरण किया गया।
            वहीं शिविरों में 712 नक्शा-तरमीम के प्रकरण निराकृत किये गये। 43 न्यायालीन आदेशों को भी राजस्व अभिलेखों में इन्द्राज किया गया। 1 आवेदनों पर आबादी भूमि के भूखण्ड धारकों को भू-धारक प्रमाण पत्र वितरित किये गये। समस्त पटवारी हल्का अन्तर्गत प्रत्येक गांव में खतौनी वाचन शिविर के पूर्व कर 803 प्रकरणों का निराकरण किया गया। राजस्व शिविरों में 12 कब्जा संबंधी प्रकरणों का भी निराकरण किया गया। सीमान्कन के 24 प्रकरण भी शिविर में निराकृत हुये। 140 शासकीय परिसम्पत्तियों को भी खसरे में इन्द्राज किया गया। 479 खसरा बी-1 का भी वितरण राजस्व अमले ने शिविरों में किया।
            33 गिरदावरी कार्य एवं फसल कटाई प्रयोग का सत्यापन 2 दिवसीय राजस्व शिविरों में किया गया। 32 भू-अर्जन हो चुकी भूमियों को विभागों के नाम राजस्व अभिलेखों में इन्द्राज किया गया। 496 प्रकरणों का सत्यापन राजस्व अधिकारियों द्वारा किया गया। वहीं 496 कम्प्यूटर में दर्ज प्रकरणों की प्रविष्टियों का सत्यापन भी सातों तहसीलों में आयोजित राजस्व शिविरों में किया गया। साधिकार अभियान के तहत 398 बीपीएल संबंधी आवेदनों का निराकरण भी राजस्व शिविरों में हुआ और 15 बैंकों में बंधक सम्पत्ति को खसरे में इन्द्राज किया गया।

            उल्लेखनीय है कि कलेक्टर विशेष गढ़पाले द्वारा भी सतत् रुप से जिले में आयोजित राजस्व शिविरों का निरीक्षण किया गया था। इस दौरान वे मटवारा, रामपाटन, किवलहरा, सकरीगढ़ और हर्रवाह पहुंचे थे। जहां उन्होने व्यवस्थाओं का जायजा लेने के साथ ही पात्रों का निराकरण स्पॉट पर ही करने के निर्देश दिये थे। 


from Blogger http://dprokatni.blogspot.com/2017/01/2-2212.html
via IFTTT
Share on Google Plus

About Abhishek Mishra

www.katninews.com is first Hindi News Portal of Katni District. You can get latest Hindi News updates.

0 टिप्पणियाँ:

एक टिप्पणी भेजें