पैसो के दम पर दागदार दामन को धोने की तैयारी कर रही भाजपा और उसके मंत्री

कटनी। हवाला कांड की पोल खुलने के बाद जैसे ही कानून के दायरे में भाजपा सरकार और उसके मंत्री पर दाग लगने लगे वैसे ही आनन-फानन में एसपी गौरव तिवारी को कटनी से हटाना अपने आप में संदेह उत्पन्न करता है। जिस तरह पिछले कुछ दिनों से जनता ने एसपी गौरव तिवारी को कटनी वापस लाने के लिए आंदोलन की चिंगारी जली थी उसे पैसो के दम पर दबाने की तैयारी भाजपा शासन और उसके मंत्री कर रहे है। यही नही इस आंदोलन को दबाने के लिए मंत्री द्वारा बकायदा अपने कार्यकर्ताओं की रैली निकालकर अपने पक्ष में नारे लगवाकर दामन पर लगे हुए दाग को छुपाने का प्रयास किया जा रहा है। जहां अभी तक मीडिया में एसपी गौरव तिवारी की खबरे आ रही है तो वही मंत्री द्वारा भी मीडिया का सहारा लेने के लिए रैलियां निकालकर लोगो के यह सन्देश देने का प्रयास किया कि हवाला कांड में उनका कोई हाथ नहीं है। परंतु ये रैलियां और सड़क पर उतरकर अपनी ईमानदारी साबित करने वाले मंत्री सरकार से अनुरोध कर एसपी गौरव तिवारी को वापस लाने और हवाला कांड में फंसे लोगो को सजा दिलवाकर भी तो अपने दामन के दाग को साफ कर सकते थे लेकिन ऐसा ना कर रैलियों और पैसो के दम पर सच्चाई छुपाने का प्रयास कर रही भाजपा शासन सत्ता के मद में चूर है। जिससे संदेह ही नहीं वरन स्पष्ट रूप स्व प्रदर्शित होता है कि हवाला काण्ड की जांच कर रहे एसपी गौरव को जांच से दूर रखा जाए उसके बाद तो "जब सैंया भये कोतवाल तो डर काहे का"।
एसपी को वापस लाओ करने वाले मासूमो को पुलिस ने रोका वही मंत्री के पक्ष में निकली गई रैली को दी हरी झंडी, कटनी में इस समय दमन का माहौल साफ दिखाई दे रहा है जहां आज सुबह मासूमो द्वारा एसपी गौरव तिवारी वापस लाओ, हवाला कांड की जाँच कराओ जैसे नारे लगाये जा रहे थे उसे पुलिस बल द्वारा ये कहकर रोक दिया गया था कि आपकी उम्र अभी ये सब करने की नहीं है आप अपने घर जाए हम आपकी बात शासन तक पंहुचा देगे। जिसके बाद दोपहर में तुरंत-फुरंत मंत्री के पक्ष में वाहन रैली निकालकर शक्ति प्रदर्शन करने का प्रयास किया गया।
यातायात नियमो की उड़ाई धज्जियां
सत्ता के नशे में चूर भाजपाइयों द्वारा यातायात नियमो दी धज्जियां उड़ाते हुए मंत्री के पक्ष में नारे लगाये उर हुड़गंदी मचाते हुए नारे लगाये। हलांकि पुलिस ने इसके खिलाफ कोई एक्शन नहीं लिया। 
पैसो और सत्ता की दम पर ईमानदारी को दबाने का प्रयास
सत्ता का नशा जब सर चढ़कर बोलता है तो शायद जनता की आवाज सत्ताधारियो तक नहीं पहुंचती। भाजपा शासन में हवाला कांड की पोल खुलने के बाद कुछ ऐसा ही देखा जा रहा है। सत्ता के नशे में चूर कांग्रेस से भाजपा में शामिल नेताओ द्वारा ठीक वही किया जा रहा है जो कांग्रेस की दिग्विजय शासन में किया जा रहा था अगर ऐसा ही रहा तो आगामी चुनावो में भाजपा को नुकसान उठाना पड़ सकता है। 
मोदी के सपनो से दूर ले जाती भाजपा की नीतियां
कालाधन और भ्रष्टाचार से लड़ने से लिए प्रधानमंत्री मोदी द्वारा जो भी प्रयास किये जा रहे है उसमें मध्य प्रदेश की भाजपा सरकार रोड़ा अटकाने का काम कर रही है जिससे मुख्यमंत्री शिवराज ही नहीं प्रधानमंत्री की छवि भी धूमिल हो रही है। फिलहाल आने वाले दिनों में 5 राज्यो के चुनाव होना है जिसमे भाजपा को नुकसान उठाना पड़ सकता है।
दो खेमो में बंट सकती है भाजपा
विगत कई दिनों से भ्रष्टचार की पोषित करने का प्रयास कर रही भाजपा सरकार के खिलाफ उन्ही के दिग्गज नेता अजय विश्नोई के बयानों से साफ झलकता है कि भाजपा सरकार भ्रष्टाचार को पोषित कर रही है। उन्होंने कहा कि " जब मैं मंत्री पद पर था और मेरे भाई के यहाँ  आयकर विभाग का छापा पड़ा था तब मैंने सिकार की छवि धूमिल ना हो इसलिए मंत्री पद से इस्तीफा दे दिया था, और जब तक मेरा भाई निर्दोष साबित नहीं हुआ तब तक मैंने मंत्री पद नहीं संभाला ऐसे में क्या नैतिकता के आधार पर मन्त्री संजय पाठक को इस्तीफा नहीं दे देना चाहिए, क्या इनके लिए पार्टी के पैमाने बदल गए है या परंपरा बदल गई है।" इस मामले में पहली बार आये भाजपा के दिग्गज नेता ने पार्टी की कार्यप्रणाली पर उंगली उठाई है। ऐसे में भाजपा के अंदर ही अंदर की कलह उभरकर सामने आई है, जिससे ये प्रतीत होता है कि भाजपा दो खेमे में बंट सकती है।
Share on Google Plus

About prachand janta

www.katninews.com is first Hindi News Portal of Katni District. You can get latest Hindi News updates.

1 टिप्पणियाँ: