6 केन्द्रों में 2054 विद्यार्थी देंगे पीएससी का एग्जाम, परीक्षा कक्ष में जूते-मोजे पहनकर प्रवेश रहेगा वर्जित

कटनी (6 फरवरी)- सोमवार को कलेक्टर विशेष गढ़पाले ने अपने कक्ष में 10 फरवरी को सम्पूर्ण प्रदेश में आयोजित होने वाली एमपी पीएससी परीक्षा 2017 की तैयारियों की समीक्षा की। इस दौरान उन्होने सभी केन्द्राध्यक्षों को लोकसेवा आयोग द्वारा जारी दिशा-निर्देशों का सख्ती से पालन कराने के निर्देश दिये। बैठक में बताया गया कि कटनी में इस परीक्षा के आयोजन के लिये 6 केन्द्र स्थापित किये गये हैं। जिसमें 2054 विद्यार्थी राज्य सेवा एवं राज्य वन सेवा प्रारंभिक परीक्षा 2017 में सम्मिलित होंगे। परीक्षा दो पालियों में आयोजित होगी। पहली पाली प्रातः 10 बजे से लेकर 12 बजे तक और दूसरी पाली दोपहर 2.15 बजे से लेकर 4.15 तक की होगी।
            परीक्षा के लिये माधवनगर के शासकीय उत्कृष्ट हायर सेकेडरी स्कूल में स्थापित केन्द्र में 400 विद्यार्थी, गणेश चौक सिविल लाईन में स्थित शासकीय कन्या उच्चतर माध्यमिक विद्यालय में 200 विद्यार्थी, सरस्वती उच्चतर माध्यमिक विद्यालय नई बस्ती में 600 विद्यार्थी, नालंदा हायर सेकेंडरी स्कूल सिविल लाईन में 400 विद्यार्थी, एफसीआई गोदाम के पास डीएवी पब्लिक स्कूल में 300 विद्यार्थी एवं वार्डस्ले गर्ल्स हायर सेकेंडरी स्कूल में 154 विद्यार्थी परीक्षा देंगे।
एमपी पीएससी का आप दे रहे हैं एग्जाम, तो अवश्य पढ़ें
परीक्षा कक्ष में जूते-मोजे पहनकर प्रवेश रहेगा वर्जित
            मध्य प्रदेश लोक सेवा आयोग एमपी पीएससी 2017 में वर्जित वस्तुओं की जानकारी भी जारी की गई है। जिसके तहत सामान्यतः परीक्षाओं में एैसा पाया गया है कि परीक्षार्थी अपने कपड़ों, कफलिंक, चश्मा, जूते-मोजे, हाथ के बैंड इत्यादि में नाना प्रकार के इलेक्ट्रॉनिक डिवाईस का प्रयोग करते हैं। अतः परीक्षा में किसी इलेक्ट्रॉनिक डिवाईस के उपयोग को रोकने के लिये परीक्षा कक्ष में जूते-मोजे पहनकर प्रवेश वर्जित होगा। परीक्षार्थी चप्पल व सेंडल पहनकर आ सकते हैं। चेहरे को ढंककर भी परीक्षा कक्ष में प्रवेश वर्जित होगा।
            इसके साथ ही एसेसरीज जैसे बालों को बांधने का क्लेचर, बक्कल, घड़ी, हाथ में पहने जाने वाले किसी भी प्रकार बैंड, कमर में पहने जाने वाले बेंल्ट, धूप में पहने जाने वाले चश्में, पर्स, वॉलेट और टोपी भी परीक्षा कक्ष में वर्जित रहेगी।
            सिर, नाक, कान, गला, हाथ-पैर, कमर आदि में पहनने वाले सभी प्रकार के आभूषण तथा हाथ में बंधे धागे, कलावा, रक्षासूत्र आदि का सूक्ष्मता से परीक्षण कर वीक्षकों द्वारा परीक्षार्थियों के कक्ष में जाने के पूर्व तलाशी ली जायेगी।

            परीक्षार्थियों को मोबाईल, केल्कुलेटर इत्यादि इलेक्ट्रॉनिक उपकरण, पठन सामग्री एवं वर्जित वस्तुयें लेकर परीक्षा कक्ष में प्रवेश की अनुमति नहीं है। साथ ही आयोग द्वारा सभी केन्द्राध्यक्षों का परीक्षार्थियों के कक्ष में जाने के पूर्व तलाशी लेने एवं यह सुनिश्चित करने के भी निर्देश दिये गये हैं कि परीक्षार्थी कक्ष में वर्जित वस्तुयें लेकर प्रवेश ना कर सकें।


from Blogger http://dprokatni.blogspot.com/2017/02/6-2054.html
via IFTTT
Share on Google Plus

About Abhishek Mishra

www.katninews.com is first Hindi News Portal of Katni District. You can get latest Hindi News updates.

0 टिप्पणियाँ:

एक टिप्पणी भेजें