जिला चिकित्सालय में एक वर्ष में 690 मरीजों की सफलता पूर्वक हुई डायलिसिस

कटनी (21 फरवरी)- जिला चिकित्सालय में एक वर्ष में भीतर 690 मरीजों के सफलता पूर्वक डायलेसिस की जा चुकी है। इससे 30 गुर्दा रोगी भी इस सुविधा से लाभांवित हुये हैं। यह सब सेवा एवं समर्पण की प्रतिमूर्ति डॉ0 एस0के0 शर्मा एवं उनकी टीम की संयुक्त सेवा से संभव हो सकी है।
      जिला चिकित्सालय कटनी में 20 फरवरी 2016 से प्रारंभ हुये डायलेसिस यूनिट में आज दिनांक तक लगभग एक वर्ष के भीतर 690 से अधिक बार रोगियों की सफलता पूर्वक डायलेसिस की जा चुकी है। कलेक्टर विशेष गढ़पाले के मार्गदर्शन एवं सीएचएमओ डॉ0 संतोष जैन व सिविल सर्जन डॉ0 उमेश नामदेव के सतत् निर्देशन में जिला चिकित्सालय के डायलेसिस यूनिट प्रभारी व मेडिकल विशेषज्ञ डॉ0 एस0के0 शर्मा द्वारा यह कार्यवाही कुशलता पूूर्वक की गई है।
      गौरतलब है कि मध्यप्रदेश शासन एवं मुख्यमंत्री की विशेष प्राथमिकता में प्रारंभ की गई इस योजना से लगभग एक वर्ष पूर्व अनेक जिलों में प्रारंभ की गई थी। डायलेसिस प्रक्रिया बेहद जटिल है। जिसमें धैर्य के साथ चिकित्सक को कई घंटों तक मरीज की निरंतर देखभाल करनी होती है। डायलेसिस के दौरान जीवन को खतरा भी होता है। जिला अस्पताल में स्थापित डायलेसिस यूनिट में दो सत्रों में प्रतिदिन डायलेसिस की जाती है। यहां पर गरीबी रेखा के उपर के मरीजों को 5 सौ रुपये में एवं गरीबी रेखा के नीचे जीवन यापन कर रहे मरीजों का निःशुल्क डायलेसिस किया जाता है। निजी चिकित्सालयों में इसी डायलेसिस की कॉस्ट 4 से 6 हजार के मध्य आती है।
      एमडी डॉ0 सतीश शर्मा ने जानकारी देते हुये बताया कि बहुत धैर्य एवं दक्षता के साथ डायलेसिस प्रक्रिया का संचालन करना होता है। डायलेसिस के दौरान मरीज के प्रत्येक उतार-चढ़ाव पर चिकित्सक को पैनी नजर रखनी होती है। प्रत्येक डायलेसिस यूनिट पर तैनात स्टाफ निरंतर मरीज की देखभाल के लिये वहीं पर तैनात रहता है। प्रक्रिया समाप्ति के बाद ही स्टाफ वहां से अलग होता है। इस प्रक्रिया के दौरान मरीज को मनोवैज्ञानिक ढंग से उसके आत्मबल को बढ़ाने का भी प्रयास बातों के दौरान किया जाता है। जिससे उसका ध्यान इससे हटे। डायलेसिस यूनिट के संचालन में रेडक्रॉस सोसाईटी का विशेष सहयोग प्राप्त हो रहा है। गौरतलब है कि रेडक्रॉस सोसाईटी द्वारा पूर्व विधायक श्रीमती अलका जैन के प्रयासों से एक मशीन प्राप्त हुई थी। जिला चिकित्सालय में शासन द्वारा प्रदत्त एक और मशीन सहित दो मशीनों से डायलेसिस की जा रही है।

      इस कार्य में पैथोलॉजिस्ट डॉ0 सुधा नामदेव, डॉ0 यशवंत वर्मा, तंजिमा हुसैन, कुमारी एंजिलीना दास एवं डायलेसिस टेक्नीशियन शिखा पटैल का विशेष सहयोग प्राप्त हो रहा है।


from Blogger http://dprokatni.blogspot.com/2017/02/690.html
via IFTTT
Share on Google Plus

About Abhishek Mishra

www.katninews.com is first Hindi News Portal of Katni District. You can get latest Hindi News updates.

0 टिप्पणियाँ:

एक टिप्पणी भेजें