बस एक क्लिक पर शासकीय सेवकों की लगेगी अटेंडेंस और होगी मॉनीटरिंग, कलेक्टर ने तैयार कराया अटेंडेंस एण्ड टूर मॉनीटरिंग एप

''लोकसेवक कटनी'' के नाम से मोबाईल एप और पोर्टल का हुआ निर्माण
फरवरी माह में ट्रायल, तो 1 मार्च से एप रिपोर्ट पर ही आहरित होगा वेतन
लापरवाही और हीलाहवाली पर पूर्ण विराम लगाने की दिशा में जिला प्रशासन का प्रयास
नहीं चलेगी बहानेबाजी, प्रत्येक गतिविधियों पर रहेगी पैनी नजर
कटनी (15 फरवरी)- घर पर बैठकर गलत रिर्पोटिंग अब नहीं चलेगी, या यूॅं कहें कि सिर्फ बात करने वाले और काम नहीं करने वाले शासकीय सेवकों द्वारा अपने विभाग प्रमुख को बरगलाना और गलत जानकारी देना अब उनके गले की फांस साबित हो सकता है। क्यों कि जिला ई-गवर्नेंस सोसाईटी द्वारा कलेक्टर विशेष गढ़पाले के निर्देश पर अटेंडेंस एण्ड टूर मॉनीटरिंग एप व पोर्टल का निर्माण कराया गया है। ''लोकसेवक कटनी'' के नाम से बनाये गये इस एप के द्वारा बस फोटो क्लिक करने पर ही ग्रामीण अंचल में पदस्थ सचिव, रोजगार सहायक, आंगनबाड़ी कार्यकर्ता, सहायिका, आशा कार्यकर्ता की उपस्थिति दर्ज की जायेगी। वहीं स्वयं कलेक्टर से लेकर सभी विभागों के फील्ड ऑफीसर निरीक्षण के दौरान स्पॉट से फोटो क्लिक कर अपने टूर की जानकारी दे पायेंगे।
            एप के साथ ही बनाये गये पोर्टल पर विभागवार सिंक्रोनाईज होकर यह जानकारी लेंगीट्यूड और लॉंगीट्यूड के साथ ही उस स्थान की जानकारी देते हुये अपलोड हो जायेगी। जिससे विभाग प्रमुख व कलेक्टर पोर्टल पर जाकर सीधे ही पता लगा सकेंगे कि, अटेंडेंस कितने बजे और किस स्थान से लगाई गई है। साथ ही फील्ड पर दौरा करने वाले अधिकारी हकीकत में फील्ड पर हैं या नहीं। वहीं अधिकारियों, कर्मचारियों द्वारा महज एक ही गांव या एक ही क्षेत्र का दौरा तो नहीं किया जा रहा है। कौन काम कर रहा है और कौन काम चोरी, इसकी जानकारी अब महज इस एप और पोर्टल के माध्यम से एक क्लिक पर मिलेगी।
            यह मोबाईल एप लापरवाही और हीलाहवाली करने वाले शासकीय सेवकों के लिये जहां नकेल कसने में सहायक होगा। वहीं अब किसी की भी बहानेबाजी नहीं चलेगी। प्रत्येक गतिविधि पर प्रशासन की पैनी नजर रहेगी।
लॉगिन करते ही लगेगी अटेंडेंस
लोकसेवकों की उपस्थिति एवं भ्रमण की रिर्पोटिंग हेतु बनाये गये इस एप में प्रतिदिन की उपस्थिति एवं भ्रमण की रिर्पोटिंग की जानी है। लोकसेवक एप ओपन करते ही लॉगिन पेज ओपन होगा। जिसमें लॉगिन आईडी और पासवर्ड डालकर फोटो क्लिक करना होगा। कैप्चर बटन क्लिक करते ही फोटो खिच जायेगी और लॉगिन बटन क्लिक करते ही अटेंडेंस दर्ज हो जायेगी।
विभाग प्रमुख पोर्टल से ही दे सकेंगे टास्क
            जिला प्रशासन द्वारा तैयार कराये गये इस डायनेमिक अटेंडेंस एण्ड टूर मॉनीटरिंग एप एवं पोर्टल में टास्क आवंटित करने का भी फीचर रख गया है। जिसमें पोर्टल के माध्यम से विभाग प्रमुख अपने अधिनस्थ अधिकारियों और कर्मचारियों को रुटीन कार्य के साथ ही सौंपे गये अतिरिक्त टास्क के हिसाब से मैपिंग कर पायेंगे। साथ ही यह टास्क सौंपे गये सभी उन शासकीय सेवकों के मोबाईल एप पर टास्क ऑप्शन में दिखाई देगा। जिससे शासकीय सेवकों को उस स्पेशल टास्क की जानकारी भी सुगमता से प्राप्त हो पायेगी।
समूह सूचना के लिये नोटिफिकेशन का भी है ऑप्शन
            लोकसेवक कटनी मोबाईल एप में सूचना के त्वरित संप्रेषण के लिये नोटिफिकेशन का भी ऑप्शन दिया गया है। जिसके माध्यम से कलेक्टर एवं विभाग प्रमुख द्वारा अपने अधिकारियों व कर्मचारियों को एक साथ महत्वपूर्ण सूचना या कार्य की जानकारी नोटिफिकेशन के द्वारा एक साथ सभी को दी जा सकेगी।
कलेक्टर विशेष गढ़पाले के निर्देश पर इंदौर से आये इंजीनियर्स द्वारा कटनी जिला प्रशासन के लिये लोकसेवक एप बनाया गया है। जिसके माध्यम से प्रत्येक शासकीय विभागों के अधिकारियों, कर्मचारियों की सतत् निगरानी होगी। उनकी प्रत्येक गतिविधियां जिला प्रशासन की निगाहों में होगी। कोई भी कर्मचारी, अधिकारी बहानेबाजी कर बच नहीं सकता। हर एक को फील्ड में जाकर वास्तव में कार्य करना होगा और किये गये कार्य की रिपोर्ट से तत्काल अवगत कराना होगा।
            इस एप की जद में प्रत्येक शासकीय/अर्धशासकीय विभाग रहेगा। कलेक्टर ने शासकीय विभागों के अलावा शिक्षा विभाग, सकूल, जनपद पंचायतें, नगर निगम, नगरीय निकाय सहित अन्य सभी विभाग आयेंगे। मोबाईल के माध्यम से प्रत्येक अधिकारी, कर्मचारी की लोकेशन एवं गतिविधियों पर निगाह रखी जा सकेगी। इसमें काम ना करने वालों की खैर नहीं होगी और उनके किसी भी तरह के बहाने नहीं चलेंगे।
इस तरह होगी टूर मॉनीटरिंग
            लोकसेवक कटनी मोबाईल एप में टूर की जानकारी एप में डालने के लिये डैशबोर्ड के बाई ओर नीचे की तरफ एक्टिविटी बटन क्लिक कर पेज ओपन होते ही उसमें एड एक्टिविटी बटन क्लिक करनी होगी। पेज ओपन होने पर अपने विकासखण्ड या संबंधित विभाग को चयनितकर कैमरे की बटन पर क्लिक कर निरीक्षण स्थल की फोटो एवं कैप्चर कर कार्य योजना का चयन कर नोटिंग निरीक्षण का विवरण दर्ज कराकर सबमिट बटन क्लिक कर अलर्ट मैसेज डिस्प्ले होने पर यस क्लिक करते ही आपकी एक्टिविटी दर्ज हो जायेगी। इसकी मॉनीटरिंग पोर्टल पर कुछ ही क्षणों में विभाग प्रमुख एवं कलेक्टर द्वारा की जा सकेगी।
जिनके पास एन्ड्रॉईड स्मार्टफोन नहीं, उनके लिये यह व्यवस्था
            जिन शासकीय सेवकों के पास एन्ड्रॉईड स्मार्ट फोन नहीं हैं, वे ग्राम के रोजगार सहायक, सचिव, शिक्षक या अन्य कर्मचारियों के फोन का उपयोग कर अपनी उपस्थिति डालेंगे। एैसे समय में संबंधित शासकीय सेवक की फोटो ही मान्य की जायेगी। किसी कारणवश ईकाई, गांव में किसी भी शासकीय सेवक के पास स्मार्टफोन ना होने की दशा में ग्राम के निवासी के स्मार्टफोन का उपयोग किया जा सकता है। इस एप का उपयोग पूर्णतः निःशुल्क रहेगा।
मोबाईल इंटरनेट नहीं होने पर भी ऑफलाईन काम करेगा एप
            स्पॉट पर मोबाईल में इंटरनेट नहीं होने पर भी एैसेे क्षेत्रों में भी यह एप निरंतर चलेगा। मौके पर मोबाईल में नेटवर्क नहीं होने पर भी इसका उपयोग किया जा सकेगा। शासकीय सेवक को निर्धारित समय पर अपने कार्यक्षेत्र में उपस्थित होना होगा, भ्रमण करना होगा। एप का उपयोग कर एंट्री कर डाटा एप पर अपलोड कराना होगा। इसके बाद नेटवर्क क्षेत्र में आने के बाद इंटरनेट डाटा ऑन कर सिंक बटन पर क्लिक कर डाटा सिंक्रोनाईज किया जा सकेगा।
फरवरी माह में ट्रायल, तो 1 मार्च से एप रिपोर्ट पर ही आहरित होगा वेतन
            कलेक्टर विशेष गढ़पाले ने निर्देश दिये हैं कि एप पर उपस्थिति, भ्रमण एवं सभी स्तर की रिपोर्ट प्रत्येक शासकीय सेवक को रोजना डालनी होगी। एप को उपस्थिति मानकर कार्य होगा। ऑफलाईन उपस्थिति मान्य नहीं होगी। विभाग के आहरण एवं संवितरण अधिकारी वेतन आहरण करते समय संबंधित प्रत्येक माह रिपोर्ट जनरेट कर तदानुसार, नियमानुसार कार्यवाही करेंगे। शासकीय सेवक के अवकाश पर रहने पर इस रिपोर्ट में अवगत कराना होगा। फरवरी 2017 से ट्रायल मोड पर एप का शुभारंभ किया गया है। आगामी माह मार्च 2017 से एप आधारित उपस्थिति एवं भ्रमण प्रतिवेदन के आधार पर ही वेतन आहरित होगा। निर्देशों के पालन ना करने वाले पर अनुशासनहीनता की कार्यवाही की जायेगी।
विभाग प्रमुखों व विकासखण्ड स्तरीय अधिकारियों को दिया गया प्रशिक्षण

            लोकसेवक कटनी मोबाईल एप का प्रशिक्षण भी ई-दक्ष केन्द्र में जिला ई-गवर्नेंस सोसाईटी और ब्रेनवेयर इंफोसॉफ्ट प्राईवेट लिमिटेड के अधिकारियों ने विभाग प्रमुखों और विकासखण्ड स्तरीय अधिकारियों को पृथक-पृथक पालियों में प्रशिक्षण दिया गया। जिसमें मोबाईल एप के साथ ही पोर्टल की बारीकियां अधिकारियों को बताई गईं। ये अधिकारी अपने अधिनस्थ अधिकारियों और कर्मचारियों को इसका प्रशिक्षण देंगे।


from Blogger http://dprokatni.blogspot.com/2017/02/blog-post_61.html
via IFTTT
Share on Google Plus

About Abhishek Mishra

www.katninews.com is first Hindi News Portal of Katni District. You can get latest Hindi News updates.

0 टिप्पणियाँ:

एक टिप्पणी भेजें