ढीमरखेड़ा क्षेत्र में आकस्मिक रुप से पहुंचे कलेक्टर, कार्य मंें लापरवाही बरतने पर सेक्टर सुपरवाईजर, बीआरसी की एक, तो जनशिक्षक की रोकी दो वेतनवृद्धि

मनरेगा के बेतरतीब कार्य पर उपयंत्री की ली क्लास, आज की मजदूरी का भुगतान वेतन से कराने के दिये निर्देश
कटनी (4 फरवरी)- शनिवार को कलेक्टर विशेष गढ़पाले आकस्मिक रुप से ढीमरखेड़ा क्षेत्र में पहुंचे। उन्होने इस दौरान सुदूर दूरस्थ अंचल के ग्रामों दुर्घटी पिपरिया, कनौजा, बनेहरी, चकोहला, कुसेरा, जिर्री, कटरा टोला और ठिर्री पहुंचकर, आंगनबाडि़यों, विद्यालयों, ग्राम पंचायतों, स्वास्थ्य केन्द्रों और मनरेगा के तहत हो रहे कार्यों का जायजा लिया। इस दौरान जहां भी खामियां नजर आईं, उन्हें कलेक्टर ने गंभीरता से लिया। साथ ही स्पॉट पर ही त्वरित रुप से दोषियों के विरुद्व कड़ी कार्यवाही करने के निर्देश दिये।
आंगनबाडि़यों में नहीं मिला संधारित रिकॉर्ड, सेक्टर सुपरवाईजर की रोकी एक वेतनवृद्वि

      अपने निरीक्षण में कलेक्टर विशेष गढ़पाले ने दुर्घटी पिपरिया, कनौजा, बनहरी, कुसेरा और जिर्री में पहुंचकर आंगनबाडि़यों की व्यवस्थाओं की नब्ज टटोली। इस दौरान सभी स्थानों पर रिकॉर्डों का संधारण व्यवस्थिित रुप से नहीं मिला। जिस पर कलेक्टर जमकर बिफरे। उन्होने तत्काल प्रभाव से डीपीओ महिला बाल विकास को सेक्टर सुपरवाईजर की एक वेतनवृद्वि रोकने के निर्देश दिये। वहीं सीडीपीओ को शोकाज नोटिस भी थमाया। अपना मन्तव्य स्वष्ट करते हुये श्री गढ़पाले ने कहा कि यदि अब भी रिकॉर्डों का संधारण आंगनबाडि़यों में सही तरीके से नहीं मिला, तो अब सीडीपीओ पर निलंबन की कार्यवाही की जायेगी। यदि जिला अधिकारियों ने बचाने का प्रयास किया, तो वो भी चपेट में आयेंगे।
मॉनीटरिंग में उदासीनता जनशिक्षक और बीआरसी को पड़ी भारी
जनशिक्षक की दो, तो बीआरसी की एक वेतनवृद्वि रोकने के दिये निर्देश
     दौरे में शिक्षा विभाग की खामियां जब उजागर हुईं, तो दोषियों पर कार्यवाही का सिलसिला भी कलेक्टर ने प्रारंभ किया। उन्होने प्राथमिक शाला दुर्घटी पिपरिया पहुंचकर दिसंबर माह में हुये विद्यार्थियों के मासिक टेस्ट की कॉपियां मांगी। इस पर पूछे गये कुछ प्रश्नों को उन्होने ब्लेकबोर्ड पर लिखा। जिसका जवाब संबंधित छात्र से उन्होने पूछा। विद्यार्थी जवाब देने में असमर्थ रहे। उस खामोशी को संजीदगी से समझते हुये कलेक्टर ने कहा कि आप विद्यार्थियों का भविष्य चौपट ना करें। उन्हें अच्छी शिक्षा दें। पढायें, नकल करना ना सिखायें। शाला के प्रभारी प्रधान अध्यापक की एक वेतन वृद्वि रोकने के निर्देश स्पॉट पर ही दिये।
      वहीं कनौजा में भी विद्यार्थियों की स्थिति कुछ एैसी ही नजर आई। साथ ही बनहरी में तो प्राथमिक शाला के एक कक्ष में ब्लैकबोर्ड ही नहीं मिला। तो कुंसेरा और जिर्री में भी स्थिति बेहतर नहीं मिली। बीआरसी और जनशिक्षक की मॉनीटरिंग नगण्य दिखी। जनशिक्षक तो दौरे में मौजूद ही नहीं थे। इस पर जहां कलेक्टर श्री गढ़पाले ने पदीयदायित्वों का निर्वहन ना करने और लापरवाही बरतने पर जनशिक्षक की दो वेतनवृद्वि रोकने के निर्देश दिये। वहीं बीआरसी की एक वेतनवृद्वि रोक दी।

मनरेगा के बेतरतीब कार्य पर उपयंत्री की ली क्लास, आज की मजदूरी का भुगतान वेतन से कराने के दिये निर्देश
      अपने दौरे में कलेक्टर ने मनरेगा के तहत हो रहे कार्यों की भी जमीनी हकीकत जानी। उन्होने कनौजा, जिर्री और चपोला में चल रहे मनरेगा के कार्यों का जायजा लिया। कनौजा में वेतरतीब ढ़ंग से हो रहे मनरेगा के कार्य पर कलेक्टर जमकर बिफरे। उपयंत्री को डपटते हुये कलेक्टर ने पूछा कि कैसे करोगे मूल्यांकन ? मुझे अभी करके बताओ। झुण्ड में काम करा रहे हो, तो मूल्यांकन कैसे होगा। उन्होने सीईओ जनपद को निर्देश दिये कि, आज इस कार्य में लगे सभी मजदूरों की मजदूरी का भुगतान उपयंत्री के वेतन से करें और इसकी कॉपी मुझे भी प्रेषित करें।
      इसके साथ ही ग्राम पंचायत कनौजा के सचिव और उपयंत्री को सोमवार से दुर्घटी पिपरिया में भी मनरेगा के तहत कार्य प्रारंभ कराने के निर्देश दिये। वहीं जिर्री में हो रहे कार्य की जांच एसडीएम को करने के लिये निर्देशित किया।
क्या बच्चों से मजदूरी कराना चाहते हो ?
      दुर्घटी पिपरिया, कनौजा और कुसेरा में ग्रामीणों से रुक के कलेक्टर ने चर्चा की। उन्होने सभी से पूछा कि क्या आपके बच्चे स्कूल जाते हैं। यदि नहीं जाते तो आपकी मंशा क्या है। क्या बच्चों से मजदूरी कराओगे ? समझिये और जानिये, अभी समय है। अपने बच्चों को आप अनिवार्य रुप से स्कूल भेजो। ताकि उनका भविष्य संवर सके।
ग्राम पंचायत में नही मिला रोजगार सहायक, किया अवैतनिक
     दौरे में ग्राम पंचायत जिर्री के रोजगार सहायक को अनुपस्थित पाने पर कलेक्टर श्री गढ़पाले ने उसे अवैतनिक करने के निर्देश सीईओ जनपद को दिये। ग्राम पंचायत में मनरेगा के तहत कार्य कर रहे मजदूरों द्वारा बताया गया कि, भुगतान में विलंब हो रहा है। इस बात की भी श्री गढ़पाले ने गंभीरता से लिया। उन्होने रोजगार सहायक द्वारा किये गये आखरी भुगतान से लेकर आज तक अवैतनिक करने के निर्देश दिये। साथ ही आदेश देते हुये कहा कि यदि आगामी माह में रोजगार सहायक द्वारा मनरेगा के तहत दो लाख का कार्य ना कराया जाये, तो उसकी बर्खास्तगी की कार्यवाही करें।
एसडीएम साहब, अप्रैल माह का राजस्व शिविर जिर्री में लगायें
     दौरे में ग्राम जिर्री के ग्रामीणों द्वारा राजस्व विभाग से जुड़ी कुछ समस्याओं से कलेक्टर को अवगत कराया गया। इस पर तुरंत ही श्री गढ़पाले ने एसडीएम ढीमरखेड़ा को आगामी अप्रैल माह का राजस्व शिविर जिर्री में आयोजित करने के निर्देश दिये।
ग्रामीणों ने बताया नहीं आ रहे ढ़ोरों के डॉक्टर, एवीएफओ की रोकी दो वेतनवृद्वि
      ग्राम पंचायत जिर्री में ग्रामीणों द्वारा ढ़ोरोे के इलाज के लिये आने वाले डॉक्टर साहब के ना आने की जानकारी दी गई। जिसे गंभीरता से लेते हुये कलेक्टर विशेष गढ़पाले ने तत्काल प्रभाव से क्षेत्र के एवीएफओ की दो वेतनवृद्वि रोकने के निर्देश दिये।
यह भी दिये निर्देश
·         स्कूलों में अब तक पड़े एैसे जाति प्रमाण पत्र, जिन्हें एसडीएम द्वारा जारी किया गया है। लेकिन स्कूलों द्वारा वितरित नहीं किया गया है। उनका शीघ्र वितरण कराने के निर्देश संबंधित अधिकारियों को दिये।
·         जिर्री में ग्रामीणों द्वारा पेयजल की समस्या बताई गई। जिस पर पीएचई की टीम भेजकर परीक्षण कराने के निर्देश कलेक्टर ने दिये।
·         ग्रामीणों द्वारा जिर्री जलाशय के मुआवजे का भुगतान अब तक ना होने की बात भी रखी गई। जिस पर प्रकरण की जांच कराने के निर्देश कलेक्टर ने दिये।

·         अमेहटा जलाशय का लीकेज निरीक्षण के दौरान देखने में आया। इस पर संबंधित विभाग के अधिकारियों को मौके पर जाकर जांच करने और दोषियों के विरुद्व कानूनी कार्यवाही करने के लिये कलेक्टर ने निर्देशित किया। 


from Blogger http://dprokatni.blogspot.com/2017/02/blog-post_4.html
via IFTTT
Share on Google Plus

About Abhishek Mishra

www.katninews.com is first Hindi News Portal of Katni District. You can get latest Hindi News updates.

0 टिप्पणियाँ:

एक टिप्पणी भेजें