बातें कम करें, खेत में काम ज्यादा, मुझे मौके पर काम दिखना चाहिये - कलेक्टर श्री गढ़पाले

उद्यान विभाग के सभी विकासखण्डों के एसएचडीओ को थमाया शोकाज
किसानों ने क्यों नहीं की बोनी, सकारण एक-एक किसान की जानकारी करें प्रस्तुत
कटनी (14 फरवरी)- मंगलवार को कलेक्ट्रेट सभागार में कलेक्टर विशेष गढ़पाले ने कृषि विभाग, उद्यानिकी विभाग, पशुपालन विभाग, मत्स्य पालन विभाग, खाद्य आपूर्ति विभाग, सहकारिता विभाग और नागरिक आपूर्ति निगम की पृथक-पृथक समीक्षा की। इस दौरान उन्होने खेती किसानी से जुड़े सभी विभागों के टॉप-टू-बॉटम ऑफीसरों को बातें कम करने और खेत में काम ज्यादा करने के निर्देश दिये। कलेक्टर ने कहा कि मुझे आपकी बातों से मतलब नहीं है। मुझे मौके पर काम दिखना चाहिये।
             आपकों जितने अभियान चलाने हैं, चलायें। महोत्सव मनायें। लेकिन रुटीन काम प्रभावित नहीं होना चहिये। कृषि विकास विभाग और आत्मा, उद्यानिकी और पशुपालन विभाग का काम अधिक से अधिक जागरुकता लाना और किसानों व पशुपालकों को प्रेरित करना है। ताकि वे इस दिशा में बेहतर कार्य करें और अधिक धन अर्जित कर सकें। इसलिये पूरा मैदानी अमला किसानों के बीच और पशुपालकों के बीच जाये। उनकी समस्या सुनें और उनका निराकरण करें।
            उपसंचालक कृषि को बैठकों में सभी एएसडीओ को बुलाने के निर्देश कलेक्टर ने दिये। उन्होने कहा कि बहुत से स्थानों पर कृषक बोनी नहीं कर रहे हैं। इसका क्या कारण है। हमारा कार्य ही यह है, जहां किसान एक फसल ले रहे हैं, उन्हें प्रेरित कर दो फसलें दिलाई जायें। जहां बिलकुल भी खेती कृषकों द्वारा नहीं की जा रही है, वहां किसान कम से कम एक फसल तो लें। इस दिशा में हमारी टीम को काम करना चाहिये। हमारी टीम क्या कर रही है ? मुझे अगली बैठक के पूर्व एक-एक किसान, जिन्होने दोबारा बोनी नहीं की। इसका क्या कारण था ? यह रिपोर्ट प्रत्येक आरएईओ और एएसडीओ से चाहिये।
            पीडी आत्मा को भी कलेक्टर ने अगले सीजन में हर खेत की मेड़ में अरहर उगाने के लिये अभी से कार्य योजना बनाकर कार्य करने के निर्देश कलेक्टर श्री गढ़पाले ने दिये। उन्होने कहा कि आप मुगालते में ना रहें कि आपका कोई सहयोग करेगा। आप अपनी टीम को इस दिशा में लगायें। कृषकों को धारावड़ पद्वति को अपनाने के लिये भी प्रोत्साहित करें।
            फलोद्वान और ड्रिप के प्रकरणों के लिये अब तक कृषकों का चयन नहीं करने पर उद्यानिकी विभाग की भी क्लास बैठक में कलेक्टर ने ली। उन्होने सहायक संचालक उद्यानिकी को आदेश देते हुये कहा कि अब तक फलोद्वान और ड्रिप के लिये पात्र कृषकों का चयन ना करने पर जिले के सभी विकासखण्डों में पदस्थ प्रभारी वरिष्ट उद्यान विकास अधिकारियों को कारण बताओ सूचना पत्र जारी करें। जिसका आशय 12 माहों में लक्ष्य पूरा ना करने और पदीय कर्तव्यों में उदासीनता बरतने पर क्यों ना आपको अवैतनिक किया जाये, यह हो।
            उपसंचालक पशु चिकित्सा को पायलट प्रोजेक्ट के रुप में चारे की खेती 1-2 हेक्टेयर में कराने के निर्देश बैठक में कलेक्टर विशेष गढ़पाले ने दिये। उन्होने कहा कि पशुधन बीमा के प्रति पशुपालकों को प्रेरित करने के लिये अवसरों की तलाश करें। राजस्व शिविरों में भी अपने एवीएफओ को बैठायें। 30 मार्च तक का उनका कैलेंडर अभी से तैयार कर दें। ताकि निर्धारित तिथि तक जिले के प्रत्येक ग्राम में आपका एवीएफओ पहुंचे और पशुपालकों को पशुधन बीमा के लिये प्रेरित करे।

            सहकारिता विभाग के अधिकारियों को बैठक में सहकारिता सदस्य सतत् रुप से बनाने के निर्देश दिये गये। साथ ही वसूली पर भी जोर दिया गया। कलेक्टर ने उपायुक्त सहकारिता को किसान क्रेडिट कार्ड बनाने की दिशा में तेजी से कार्य करने के निर्देश दिये। इस दौरान सभी संबंधित विभागों के विभाग प्रमुख व अन्य अधिकारी उपस्थित थे।


from Blogger http://dprokatni.blogspot.com/2017/02/blog-post_21.html
via IFTTT
Share on Google Plus

About Abhishek Mishra

www.katninews.com is first Hindi News Portal of Katni District. You can get latest Hindi News updates.

0 टिप्पणियाँ:

एक टिप्पणी भेजें