स्वच्छ भारत मिशन के लिए स्वच्छता प्रेरकों एवं उपयंत्रियों के कार्यो की समीक्षा बैठक सम्पन्न

स्वच्छता प्रेरक ग्राम पंचायतों में पूरे मन से करें कार्य- डॉ. के.डी.त्रिपाठी, सीईओ जि.पं.
कटनी (8 फरवरी)- मूमेंट प्लान के अनुसार प्रेरक कार्य कर रहे है या नही बतायंे ? मूमेंट प्लान के अनुसार ही ग्राम पंचायतों में स्वच्छ भारत मिशन अंतर्गत कार्य करना है। इसकी जानकारी प्रतिदिन निर्धारित प्रारूप में अपडेट करें यह बात जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी डॉ. के. डी त्रिपाठी ने स्वच्छ भारत मिशन की समीक्षा बैठक के दौरान स्वच्छता प्रेरकों से कही। जिला पंचायत के सभा कक्ष में बुधवार को प्रेरकों एवं उपयंत्रियों के कार्य की समीक्षा के लिए बैठक आयोजित हुई जिसमें स्वच्छ भारत मिशन अंतर्गत उपयंत्रियों एवं स्वच्छता प्रेरकों की भूमिका पर चर्चा एवं कार्यो की समीक्षा हुई।
             जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी, डॉ. त्रिपाठी ने स्वच्छता प्रेरकों को निर्देशित किया कि ग्राम पंचायतों को खुले में शौच से मुक्त कराने, ग्रामीण जनों में स्वच्छता के प्रति जागरूकता लाने के लिए स्वच्छ भारत मिशन में पूरे मिशन के साथ जुडे। स्वच्छता प्रेरक जोश और उत्साह के साथ जमीनी स्तर पर कार्य करें। कुछ प्रेरक बैठक में समय पर उपस्थित नही हुये थे, जिस पर जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी डॉ. त्रिपाठी ने कहा कि जो प्रेरक समय पर उपस्थित नही हुये है उससे उनकी कार्य की गंभीरता समझ में आती है। ध्यान रखे कि बैठक में समय से उपस्थित हों। हर 15 दिन में सभी प्रेरकों के साथ बैठक आयोजित की जावेगी, जिसमें किये गये कार्यो की समीक्षा, अभियान में गति लाने पर चर्चा के साथ-साथ समस्याओं का भी समाधान किया जावेगा।
            स्वच्छता प्रेरकों के लिए प्रतिदिन की जानकारी अपडेट करनें के लिए प्रारूप तैयार है, जिसमें स्वच्छता प्रेरक प्रतिदिन किये जाने वाले कार्यो की जानकारी अपडेट करेंगे और हर पन्द्रह दिन में आयोजित होने वाली बैठक में इसकी जानकारी देंगे। जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी नें स्वच्छ भारत मिशन के ब्लाक समन्वयों को निर्देशित किया कि प्रेरकों के लिए प्रारूप और जानकारी समय पर उपलब्ध कराई जाये, यह ब्लाक समन्वयकों का दायित्व है।
            बैठक में प्रेरकों से ग्राम स्तर पर किये जाने वाले कार्यो की जानकारी ली गई। प्रेरकों ने बताया कि वह समुदाय में स्वच्छता के प्रति जागरूकता लाने के लिए कार्य कर रहे है। पहले समूदाय को एकत्रित करते है। उनसे चर्चा करते है, उन्हें खुले में शौच से जाने से होने वाले दुष्परिणामों, बीमारियों की जानकारी देते है। ग्रामीण जनों को बेहतर तरीके से खुले में शौच नही जाने के लिए समझाते है।
                        जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी ने कहा कि पहले ग्राम की जानकारी एकत्रित करें, कितने घरों में शौचालय है, कितने घरों में शौचालय नही है। शौचालय का कौन उपयोग कर रहा है, कौन उपयोग नही कर रहा है, इसकी जानकारी अपडेट रहे। किन स्थानों पर ग्रामीणजन खुले में शौच के लिए जाते है, इसकी जानकारी एकत्रित कर उन स्थानों पर जाकर ग्रामीणजनों को स्वच्छता के प्रति जागरूक करे। टिगरिंग के दौरान आंगनवाडी कार्यकर्ता, सहायिका, शिक्षक, सचिव, रोजगार सहायक, निगरानी समिति के सदस्य एवं स्वसहायता समूह के सदस्य मौजूद रहें और बेहतर तरीके से ग्रामीणजनों को खुले में शौच नही जाने के लिए समझाएं। उन्हें बताये कि घर में शौचालय होना कितना आवश्यक है, उसके क्या फायदे है। इसकी जानकारी दें ग्रामीणजन जब प्रेरित एवं स्वच्छता के प्रति जागरूक होगें तो वह स्वयं से शौचालय का निर्माण करवायेंगे और उसका उपयोग करेंगे। ग्रामीणजनों के बीच बैठकर ग्राम पंचायत को खुले में शौच से मुक्त कराने के लिए संभावित तिथि तय करें इसका प्रस्ताव ग्राम सभा में पारित करायें।

            बैठक में स्वच्छ भारत मिशन के जिला समन्वयक अरूण सिंह, ब्लाक समन्वयक, उपयंत्री एवं प्रेरक मौजूद थे। 


from Blogger http://dprokatni.blogspot.com/2017/02/blog-post_94.html
via IFTTT
Share on Google Plus

About Abhishek Mishra

www.katninews.com is first Hindi News Portal of Katni District. You can get latest Hindi News updates.

0 टिप्पणियाँ:

एक टिप्पणी भेजें