स्कूलों की मनमानी पर लग सकेगी लगाम, फीस वृद्धि नियंत्रण पर बनेगा कानून



भोपाल। निजी स्कूलों की मनमानी रोकने के लिए शासन ने कई बार घोषणाएं कर चुकी है लेकिन जमीनी हकीकत कुछ और ही है। हालांकि इस बार फिर से सरकार ने वही पुराना राग अलापा है और इसे नए सत्र से लागू करने की योजना बनाई है। अब देखना यह है कि यह कब तक अमल हो पाता है 
निजी स्कूलों में फीस वृद्धि पर नियंत्रण के लिए नया कानून इस साल नए शिक्षण सत्र से ही लागू होगा। ये घोषणा विस में शुक्रवार को स्कूल शिक्षा मंत्री विजय शाह ने की। वह ध्यानाकर्षण चर्चा का जवाब दे रहे थे। उन्होंने कहा कि सरकार पूरा प्रयास करेगी कि 2017-18 के शिक्षण सत्र से इस कानून को लागू कर दिया जाए।
कांग्रेस विधायक जीतू पटवारी ने ध्यानाकर्षण चर्चा में यह मुद्दा उठाया था। उन्होंने कहा कि स्कूलों पर सरकारी नियंत्रण न होने से फीस और किताब पर लूट चल रही है। इस पर स्कूल शिक्षा मंत्री विजय शाह ने कहा कि कुछ स्कूलों को छोड़कर कहीं भी 10 प्रतिशत से ज्यादा फीस वृद्धि नहीं की गई। जीतू पटवारी ने कहा कि 8 साल से सरकार फीस नियंत्रण कानून नहीं ला पा रही है। ऐसे में अब तक जिन अभिभावकों के साथ अन्याय हुआ है, उसका जिम्मेदार कौन है?
जिस अनुपात में महंगाई बढ़ेगी उसी अनुपात में बढ़ेगी फीस 
स्कूल शिक्षा मंत्री विजय शाह ने कहा कि सरकार स्कूल फीस वृद्धि को महंगाई से जोड़ने पर भी विचार कर रही है। जितनी महंगाई बढ़ेगी, उस अनुपात में स्कूल की फीस बढ़ जाएगी। इससे मनमानी फीस वृद्धि पर रोक लगेगी और जो स्कूल नए कानून को नहीं मानेंगे, उनकी मान्यता रद्द कर दी जाएगी।
Share on Google Plus

About prachand janta

www.katninews.com is first Hindi News Portal of Katni District. You can get latest Hindi News updates.

0 टिप्पणियाँ:

एक टिप्पणी भेजें