कठिनाईयों का सीना चीरकर निकलती है निष्पक्ष पत्रकारिता, जनसम्पर्क द्वारा आयोजित मीडिया संवाद कार्यक्रम में वरिष्ठ पत्रकारों ने बांटे अनुभव

पत्रकारिता में सकारात्मक रुख भी जरूरी-कलेक्टर
मीडिया संवाद कार्यशाला में हुए सवाल-जवाब
कटनी (19 मार्च)- रविवार को जिला जनसंपर्क कार्यालय द्वारा मीडिया संवाद कार्यक्रम का आयोजन किया गया। बारडोली कॉलेज में आयोजित मीडिया संवाद कार्यशाला में पत्रकारों के हितों और पत्रकारिता क्षेत्र में आने वाली चुनौतियों के विषय में प्रकाश डालते हुए भोपाल व जबलपुर से पहुंचे वरिष्ठ पत्रकारों ने जहां अपने अनुभव बांटे, तो वहीं जिले व आस-पास आंचलिक क्षेत्रों से कार्यशाला में उपस्थित हुए पत्रकारों ने अपनी-अपनी समस्याओं से अवगत कराते हुए निराकरण के उपायों की जानकारी ली। बारडोली कालेज में आयोजित मीडिया संवाद कार्यशाला में विषय विशेषज्ञ के रूप में भोपाल से प्रदेश टुडे के संपादक देवेश कल्याणी, लाईव इंडिया न्यूज चौनल के स्टेटे ब्यूरो भरत शास्त्री, जबलपुर से पत्रिका के स्थानीय संपादक गोविन्द ठाकरे, मध्यप्रदेश हिंदी एक्सप्रेस के संपादक रविंद्र बाजपेयी के साथ ही कलेक्टर विशेष गढ़पाले मौजूद रहे। कार्यक्रम का शुभारंभ अतिथियों ने मां सरस्वती के चित्र पर माल्यार्पण कर दिया। तत्पश्चात अतिथियों का स्वागत सत्कार पुष्प गुच्छ भेंट कर किया गया।
मिशनरी पत्रकारिता पर व्यवसायिकता हावी
कार्यशाला में वरिष्ठ पत्रकार देवेश कल्याणी ने कहा कि धीरे-धीरे मिशनरी पत्रकारिता पर व्यवसायिकता हावी होती जा रही है। बावजूद इसके आज भी कई पत्रकार अपनी निष्पक्ष लेखनी से समाज में अपना विशिष्ट स्थान बनाए हुए हैं जो आने वाली पीढ़ी के लिए भी मार्गदर्शक है। उन्होंने कहा कि वर्तमान में मीडिया पर हावी हो रही व्यवसायिक ताकतें ईमानदार व निष्पक्ष कलमकारों का दिमाग बदलने का काम कर रही है। जिससे मीडिया हंटिंग को बढ़ावा मिल रहा है। श्री कल्याणी ने अपने जीवन के कई उदाहरण देकर समझाया कि सकारात्मक पत्रकारिता से भी समाज व देश को नई दिशा दी जा सकती है।
कठिन काम है जर्नलिज्म
कार्यक्रम में आये भरत शास्त्री ने इलेक्ट्रॉनिक मीडिया के अनुभवों को साझा करते हुए बताया कि इस क्षेत्र में बहुत सारी चुनौतियां है जिसे हम लोग भलीभांति निभा रहे है। सही जर्नलिज्म करना आज कठिन कार्य है। समाज में आज सोशल मीडिया का हस्तक्षेप बढ़ रहा जिससे लोग अब खबरो के लिए टीव्ही देखना कम कर दिया है। फिर भी इलेक्ट्रॉनिक मीडिया ग्राउंड जीरो से रिपोर्टिंग करती है।
समाज के हर पहलू पर होनी चाहिए नजर
इस कार्यशाला में अपने अनुभवों को बांटते हुए गोविन्द ठाकरे ने कहा कि आजकल मीडिया के क्षेत्र में वेब मीडिया का प्रभाव बढ़ा है, समाज में आजकल लोग सोशल मीडिया एयर वेब मीडिया पर खबरों का आदान-प्रदान करते है। इसलिए पत्रकारों को हर खबर और समाज के हर पहलुओं पर नजर रखते हुए निष्पक्ष पत्रकारिता करना चाहिए।
निष्पक्ष पत्रकारिता से बनता स्वच्छ समाज
कार्यक्रम में रविंद्र बाजपेयी ने निष्पक्ष पत्रकारिता पर जोर डालते हुए कहा कि इन दिनों पत्रकारिता के क्षेत्र में इतनी तेजी आ गई है कि लोग जल्दबाजी के चक्कर में आधी-अधूरी खबरों को पोस्ट कर देते हैं जिनका प्रकाशन भी हो जाता है लेकिन ऐसी खबरों से समाज में पत्रकारिता के प्रति असंतोष की भावना फैलती है। खबरों में निष्पक्षता की कमी होने के कारण समाज में पत्रकारों का कद घट रहा है इसलिए स्वतंत्र पत्रकारिता करते हुए समाज को सही दिशा देने का काम करे क्योंकि निष्पक्ष पत्रकारिता ही स्वच्छ समाज का निर्माण करती है। पत्रकारिता की राह में  समस्याओं के सवाल पर श्री बाजपेयी ने कहा कि जिस तरह बाढ़ के पानी के साथ-साथ कचरों के ढेर बहकर आते हैं लेकिन वह खुद ही किनारे छूट जाते हैं उसी तरह पत्रकारिता की राह में रोड़ा बनने वाली कठिनाईयां भी खुद ब खुद पीछे छूट जाती हैं।
सोशल मीडिया से निपटना बड़ी चुनौती
अपने संबोधन में अतिथि भरत शास्त्री, रवीन्द्र वाजपेयी व गोविन्द ठाकरे ने स्वीकार किया कि वर्तमान में सोशल मीडिया से प्रिंट व इलेक्ट्रॉनिक मीडिया प्रभावित तो हो रहा है लेकिन आज भी विश्वसनीयता के मामले में प्रिंट व इलेक्ट्रॉनिक मीडिया का अपना स्थान बरकरार है जो हमेशा रहेगा। इस मौके पर अतिथि वरिष्ठ पत्रकारों ने स्थानीय पत्रकारों के सवालों का जवाब देकर उनकी जिज्ञासा भी शांत की।
सोशल मीडिया और मीडिया में है अंतर
विषय विशेषज्ञों ने अपने अनुभवों को कटनी जिले के पत्रकारों के सामने रखते हुए मीडिया के क्षेत्र में आये बदलाव और आने वाली चुनौतियों के बारे में चर्चा की। मीडिया कार्यशाला कार्यक्रम में पत्रकारों को संबोधित करते हुए देवेश कल्याणी ने कहा कि इन दिनों सोशल मीडिया की खूब चर्चा होती है जिससे वास्तविक पत्रकारिता कर रहे पत्रकारों को अपनी पहचान खोने का खतरा उत्पन्न हो रहा है। सोशल मीडिया की खबरें अधपकी और सच्चाई के बहुत करीब नहीं होती हैं इसलिए पत्रकार को अपनी रिपोर्टिंग और कलम पर भरोसा रखते हुए सच्ची पत्रकारिता करना चाहिए।
समाज की दिशा व दशा बदलने का करते हैं पत्रकार
कार्यक्रम में शामिल हुए क्लेक्टर विशेष गढ़पाले ने अपने पढाई के समय के अनुभवों को बांटते हुए कहा कि कोचिंग में हमें मीडिया के बारे में पढ़ाया जाता था, मीडिया समाज और प्रशासन के बीच अपनी बात रखने का ससक्त माध्यम है। मीडिया संवाद के कार्यक्रम में आकर मुझे कई बातें सीखने को मिली है मैं इसका आभारी हूं। आज मीडिया और प्रशासन के बीच जो एक-दूसरे का डर व्याप्त है जिसे खत्म करना चाहिए। मीडिया का कार्य होता है समाज की बातों को सही तरीके से संकलन करना एवं सही तरीके से प्रकाशित करना है और निष्पक्ष पत्रकारिता ही समाज में व्याप्त कुरीतियों, अराजकताओं को दूर करने में भूमिका निभाती है। कलेक्टर द्वारा मंचासीन अतिथियों व सभी पत्रकार साथियों का आभार व्यक्त किया गया।
वरिष्ठ पत्रकारों का हुआ सम्मान

मीडिया संवाद कार्यशाला में जन संपर्क विभाग की ओर से वरिष्ठ पत्रकार सत्यदेव चतुर्वेदी, श्याम गौर,अशोक पृथ्यानी, ओम सरावगी, सुरेश सोनी, अरविंद वर्मा का शॉल श्रीफल से सम्मान किया गया। कार्यशाला में विभागीय अधिकारी-कर्मचारियों ने स्मृति चिन्ह भेंट कर अतिथियों का सम्मान किया। कार्यशाला का संचालन संजय शर्मा व आभार प्रदर्शन जिला जनसंपर्क अधिकारी सुनील वर्मा ने किया।
Share on Google Plus

About Abhishek Mishra

www.katninews.com is first Hindi News Portal of Katni District. You can get latest Hindi News updates.

0 टिप्पणियाँ:

एक टिप्पणी भेजें