...फिर एक नाबालिक हुई गैंगरेप का शिकार, प्रदेश हो रहा शर्मशार


कटनी। महिलाओ के प्रति बढ़ते यौन अपराध के मामलो ने पुलिस की कार्यप्रणाली को संदेह के घेरे में लाकर खड़ा कर दिया है। अपने ही आसपड़ोस में महिलाओ की सुरक्षा पर सैकड़ो सवाल खड़े कर सीए है। कोतवाली थाना क्षेत्र अंतर्गत भट्टा मोहल्ला में सनसनीखेज मामला सामने आया है। रात में मंदिर से अपने घर लौट रही नाबालिग लड़की से गैंग रेप किया गया है। किसी तरह आरोपियों के चंगुल से छूटकर घर पहुंची नाबालिक लड़की ने अपने साथ ह्यूए दुष्कर्म की बात अपने परिजनों से बताई। पीडि़ता व परिजनों की शिकायत पर पुलिस ने प्रकरण दर्ज करते हुए आरोपियों की तलाश में जुट गई है। वहीं सूत्रों की मानें तो पुलिस ने दो आरोपियों को हिरासत में ले लिया गया है एवं नाबालिक पीडि़ता को गंभीर हालत में जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है। 

यह है मामला

बताया जाता है की वंश स्वरूप वार्ड निवासी एक नाबालिक लड़की मंगलवार की रात भंडारा खाने के लिए मंदिर गई थी। जब भंडारा खाकर घर लौट रही थी पहले से ही घात लगाए मोहल्ले के ही तीन लड़के उस लड़की का इंतजार कर रहे थे। जा नाबालिक लड़की वहां से गुजरी तो तीनों उसे बलपूर्वक पहाड़ी पर ले गए और दुष्कर्म की घटना को अंजाम दिया। किसी तरह से छूट कर भागी लड़की घर पहुंचकर अपने परिजनों को खुद के साथ हुई ज्यादती का दर्द सुनाया। 

रात में थाने पहुंचे परिजन
पीडि़ता को गंभीर हालत में परिजन कोतवाली थाना लेकर पहुंचे। पुलिस ने शिकायत दर्ज करते हुए नाबालिग को जिला अस्पताल में भर्ती कराया, जहां उपचार जारी है। बताया जा रहा है कि गैंगरेप में शामिल तीन आरोपियों में से दो आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है।  वही पुलिस ने अभी तक मामले का खुलासा नहीं किया है। क्षेत्र में इस घटना के बाद लोगो में आक्रोश देखा गया है और उक्त घटना की तीखी निंदा की जा रही है।
नहीं दिख रहा महिला सशाक्तिकरण विभाग का असर
महिलाओ को सक्षम और सशक्त करने के लिए शासन ने महिला सशक्तिकरण विभाग बना दिया एवं महिलाओ को जागरूक करने एवं सशक्त बनाने के लिए करोडो रुपये पानी की तरह बहा रही है लेकिन धरातल पर इसका असर नहीं दिखाई दे रहा है। हालांकि बड़े-बड़े आंकड़े विज्ञापनों और कागजो में देकर प्रदेश की उपलब्धियों के गुणगान किये जाते है लेकिन वस्तुस्थिति क्या शायद ही यह किसी से छुपा हो।
... तो निर्भया स्वायड भी है! पता नहीं?
कागजी तौर पर शासन महिलाओ की सुरक्षा को लेकर इतनी ज्यादा गंभीर है कि कई प्रकार की योजनाओं और सुरक्षा पर करोडो रूपए फूँके जा रहे है। जिले में निर्भया स्क्वायड है भी या नही लोगो को पता ही नहीं है। जबकि शासन द्वारा इन व्यवस्थाओं पर लाखों रुपये पानी की तरह बहाये जा रहे है, लेकिन इन रुपयो को ख़र्च करने के बाद महिलाओं की स्थिति में कितना सुधार आया है और कितना सुधार आना चाहिए शायद ही इस विषय पर जंप्रतिनिधियो द्वारा कोई चर्चा की जाती हो, बस कागजी कोरम में रिकॉर्ड दुरुस्त कर केंद्र को ऐसे आंकड़े प्रस्तुत किये जाते है जो  जमीनी हकीकत से कही परे है।

Share on Google Plus

About Prachand Janta

www.katninews.com is first Hindi News Portal of Katni District. You can get latest Hindi News updates.

0 टिप्पणियाँ:

एक टिप्पणी भेजें