सम्पूर्ण जिले में पेयजल परिरक्षण अधिनियम लागू, कलेक्टर ने जारी किया आदेश, नवीन नलकूप खनन पर रहेगा पूर्णतः प्रतिबंध


कटनी (14 अप्रैल)- सम्पूर्ण कटनी जिले में कलेक्टर एवं जिला दण्डाधिकारी विशेष गढ़पाले ने पेयजल परिरक्षण अधिनियम लागू कर दिया है। जिसके आदेश जारी किये जा चुके हैं। यह अधिनियम कलेक्टर द्वारा ग्रीष्म ऋतु में कटनी जिले के भू-जलस्तर में लगातार गिरावट होने के कारण मध्यप्रदेश पेयजल परिरक्षण अधिनियम 1986 संशोधन विधेयक 2002 में दी गई शक्तियों को उपयोग में लाते हुये जारी किया है। इस अधिनियम के लागू रहने तक जिले में नवीन नलकूप खनन नदी, नालों, तालाबों अथवा अन्य सार्वजनिक जलाशलयों से पानी लेना पूर्णतः प्रतिबंधित रहेगा। लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग, नगर पालिक निगम एवं नगरीय निकाय, इस प्रतिबंध से पूर्णतः प्रतिबंधित रहेंगे।

            इस अवधि में निजी नलकूप के खनन के लिये संबंधित क्षेत्र के अनुविभागीय अधिकारी राजस्व से पूर्वानुमति लेना अनिवार्य होगा। शासकीय नलकूप से 150 मीटर के दायरे के अंतर्गत निजी नलकूप खनन पूर्णतः प्रतिबंधित रहेगा। एसडीएम की अनुमति के बाद यदि निजी नलकूप खनन कराया जाता है, उसकी गहराई, खनित नलकूप से कम रहेगी। यदि आवश्यक हुआ, तो खनन किये जा रहे निजी नलकूप से आस-पास के निवासियों को भी पेयजल उपलब्ध कराना होगा। 
Share on Google Plus

About Abhishek Mishra

www.katninews.com is first Hindi News Portal of Katni District. You can get latest Hindi News updates.

0 टिप्पणियाँ:

एक टिप्पणी भेजें