मोबाइल ऐप पर हाजिरी लगाने से घबरा रहे कर्मचारी, शुरू की हड़ताल


कटनी। नौकरी की जगह राजनीती  करने वाले अधिकारी और कर्मचारी इन दिनों प्रशासन के द्वारा लोकेवक मोबाइल ऐप के जरिये हाजिरी लगाने वाले आदेश के खिलाफ लामबद्ध होकर संगठन के माध्यम से हड़ताल पर बैठ गए है। शासन-प्रशासन की ज्यादती और शोषण के खिलाफ आवाज उठाने के लिए दिए गए अधिकार का उपयोग कर प्रशासन पर दबाव बनाने का भरसक प्रयास किया जा रहा है। जबकि प्रशासन की वाजिब पहल को ठेंगा दिखाकर अपने स्वार्थ सिद्धि में लगे अधिकारियो और कर्मचारियों को अपनी नौकरी के दायित्वों व कर्तव्यों से ज्यादा दिलचस्पी स्वयं के निजी कार्यो को करने में रहती है।
क्या है लोकसेवक ऐप
प्रशासन द्वारा कर्मचारियों की मनमानी पर लगाम कसने व उनकी उपस्थिति जानने के लिए लोकसेवक नाम का मोबाइल ऐप शुरू किया है। एप में प्रत्येक अधिकारी व कर्मचारी की आईडी बनाई गई है जिसमे वह अपनी आईडी और पासवर्ड से एप को लॉग इन कर अपनी उपस्थिति दर्ज करा सकता है एवं नौकरी की समयावधि समाप्त होने पर ऐप से लॉग ऑफ कर नौकरी से जाने का समय दर्ज हो जाता है जिससे प्रत्येक कर्मचारी की नौकरी की जानकारी संबंधित विभाग के उच्चाधिकारी के पास दर्ज हो जाती है। जिसे उच्चाधिकारी ऐसे कर्मचारी पर कार्यवाही कर सकेगा जो अपनी नौकरी के नियमो का पालन नहीं किया है।
हर कर्मचारी की नौकरी का रहता है हिसाब
कई मामलो में देखा गया है कि शासकीय सेवक शासन द्वारा निर्धारित समय पर कार्यालय नहीं पहुंचता है और ना ही निर्धारित समय तक कार्यालय में रहता है। इसी मनमानी पर लगाम कसने के लिए क्लेक्टर द्वारा शुरू किये गए लोकसेवक नाम के एक मोबाइल ऐप के द्वारा हाजिरी लगाना एवं नौकरी का समय समाप्त होने पर मोबाइल एप से लॉगऑफ होकर कर्मचारी द्वारा की गई कुल नौकरी का हिसाब आसानी से रखा जा सकता है। इसी सराहनीय प्रयास के विरुद्ध कर्मचारी संगठनों द्वारा विरोध प्रदर्शन कर हड़ताल पर बैठे गए है। लिहाजा यह हड़ताल कितनी जायज है इस बात का अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि नौकरी को चुस्त करने के प्रयासों को हड़ताल के माध्यम से दबाने का कुचक्र रचा गया है।
Share on Google Plus

About Prachand Janta

www.katninews.com is first Hindi News Portal of Katni District. You can get latest Hindi News updates.

0 टिप्पणियाँ:

एक टिप्पणी भेजें