दिव्यांगो को मिली नई दिशा, अब नहीं रहेंगे किसी के मोहताज

कटनी। शनिवार को कृषि उपज मण्डी में सामाजिक न्याय और अधिकारिता मंत्रालय के दिव्यांगजन सशक्तिकरण द्वारा सामाजिक आधिकारिता शिविर का आयोजन किया गया। इस दौरान जिले के पूर्व चिन्हित 1887 दिव्यांगजनों को सहायक उपकरण व कृत्रिम अंगों का निःशुल्क वितरित किये गये। इस अवसर पर 1 करोड़ 48 लाख रुपये की लागत के 3307 उपकरणों का वितरण केन्द्रीय मंत्री सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्रालय थावरचन्द्र गहलोतराज्यमंत्री संजय सत्येन्द्र पाठकसांसद खजुराहो नागेन्द्र सिंहविधायक मुड़वारा संदीप जायसवालविधायक ढीमरखेड़ा मोती कश्यपसमाज कल्याण बोर्ड की अध्यक्ष पद्मा शुक्ला और जिला पंचायत अध्यक्ष ममता पटैल ने किया।
दिव्यांगों का संरक्षण एैतिहासिक कदम
            कार्यक्रम की शुरुआत अतिथियों द्वारा भारत माता एवं पंडित दीनदयाल उपाध्याय के चित्रपट पर दीप प्रज्वलित कर हुई। इस अवसर पर केन्द्रीय मंत्री श्री गहलोत ने सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्रालय द्वारा दिव्यांगजनों के लिये संचालित योजनाओं की विस्तार से जानकारी दी। उन्होने कहा कि हमारी सरकार सबका साथसबका विकासध्येय के साथ कार्य कर रही है। जोकि गरीबों के कल्याण के लिये समर्पित है। सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्रालय द्वारा देश की 70 करोड़ आबादी को योजनाओं का लाभ प्रदाय किया जा रहा है। दिव्यांगों के संरक्षण के लिये हमने एतिहासिक निर्णय लिये हैं और उस पर अमल भी किया है।
एक माह के भीतर होगी स्वीकृत
            कटनी को डीआरडीसी का सौगात देने की बात भी निःशुल्क सहायक उपकरण वितरण समारोह में केन्द्रीय मंत्री श्री गहलोत ने कही। उन्होने कहा कि जैसे ही प्रशासन द्वारा डीआरडीसी की सम्पूर्ण प्रक्रिया पूर्ण कर डीपीआर मेरे मंत्रालय भेजी जायेगी। उसके एक माह के भीतर ही स्वीकृति जारी कर दी जायेगी। सांसद नागेन्द्र सिंह की मांग पर रैम्प निर्माण की डीपीआर प्राप्त होते ही रैम्प के निर्माण कार्य की स्वीकृति जारी करने की बात भी श्री गहलोत ने कही। साथ ही राज्यमंत्री श्री पाठक की मांग पर कटनी में भी 80 प्रतिशत से ज्यादा विकलांगों को चिन्हित कर बैट्री से चलने इलेक्ट्रिक मोटराईज ट्राईसाइकिल वितरित करने को भी कहा।
दिव्यांगों की अब 7 की जगह 21 श्रेणी बनाई
दिव्यांगतन सशक्त्तिरण विभाग द्वारा दिव्यांगो की यूनिवर्सल आईडी निर्माण की बात पर भी केन्द्रीय मंत्री थावरचन्द्र गहलोत ने जोर दिया। उन्होने कहा कि देश के दिव्यांगों को यूनिक आईडी जनरेट करने का काम विभाग द्वारा किया जा रहा है। इससे सम्पूर्ण देश में दिव्यांगों को राज्य व भारत सरकार की योजनाओं का लाभ मिल पायेगा। कुछ समय पूर्व तक दिव्यांगो की सिर्फ 7 श्रेंणी चिन्हित थीं। लेकिन हमने कानून बनाया है। अब दिव्यांगों की 21 श्रेणी हो गई हैं। इससे अब किसी भी प्रकार के दिव्यांगों को राज्य व केन्द्र सरकार की योजनाओं का लाभ मिल पायेगा।
दिव्यांगों की सेवा से ज्यादा परोपकार का कोई और कार्य नहीं
इस अवसर पर राज्यमंत्री संजय सत्येन्द्र पाठक ने दिव्यांगों की सेवा को सबसे ज्यादा परोपकार का कार्य बताया। उन्होने कहा कि सरकार के बहुत से विभाग हैंजो विकास के कार्यों को करते हैं। लेकिन सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्रालय सब विभागों से हटकर परोपकार का कार्य करने वाला विभाग है। आज के आयोजन को उन्होने दीनदयाल उपाध्याय जी की विचारधारा का सार्थक परिणाम बताया। श्री पाठक ने कहा कि राज्य सरकार व केन्द्र सरकार गरीबों व दिव्यांगों को समाज की मुख्यधारा से जोड़ने के लिये कृतसंकल्पित है और इस दिशा मे कार्य कर रही है।
कटनी के लिये महत्वपूर्ण है शिविर
सामाजिक अधिकारिता शिविर में अपनी बात रखते हुये स्थानीय विधायक श्री संदीप जायसवाल ने भी इस वृहद शिविर की सराहना की। उन्होने कहा कि कटनी के लिये यह महत्वपूर्ण आयोजन है। जिसमें 1800 से अधिक दिव्यांगों को एक ही स्थान पर सहायक उपकरणों व कृतिम अंगों का वितरण किया जा रहा है। बड़वारा विधायक श्री मोती कश्यप ने भी सतत् रुप से एैसे आयोजन करने की बात बात कही।
3307 उपकरण किये वितरित
शिविर में दिव्यांगजनों को 540 ट्रायसाईकल, 293 फोल्डिंग व्हीलचेयर, 710 बैसाखी, 149 वॉल्किंग स्टिक, 15 ब्रेल केन, 21 ब्रेल किट, 97 रोलेटर, 582 बीटीई, 309 एमएसआईडी किट, 9 सीपी चेयर, 10 एडीएल किट, 102 स्मार्ट केन, 5 स्मार्ट फोन, 51 डिजी प्लेयर और414 कृतिम अंग और कैलिबर्स का वितरण किया गया।
            इस दौरान शिविर में नगर निगम अध्यक्ष संतोष शुक्ला,भाजपा जिलाध्यक्ष पीतांबर टोपनानीकलेक्टर विशेष गढ़पाले,पुलिस अधीक्षक शशिकान्त शुक्ला और सीईओ जिला पंचायत फ्रेंक नोबल ए उपस्थित थे।
Share on Google Plus

About Prachand Janta

www.katninews.com is first Hindi News Portal of Katni District. You can get latest Hindi News updates.

0 टिप्पणियाँ:

एक टिप्पणी भेजें